पीडीपी के सरकार बनाने के दावे के बाद राज्यपाल ने भंग की विधानसभा

पीडीपी के सरकार बनाने के दावे के बाद राज्यपाल ने भंग की विधानसभा



New Delhi. जम्मू और कश्मीर में एक बार फिर सियासत ने रंग ले लिया है। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। इसके बाद पीपुल्स कांग्रेस के नेता सज्जाद लोन की ओर से भी सरकार बनाने का दावा पेश किया गया, लेकिन इस बीच राज्यपाल ने विधानसभा भंग कर दी है। बता दें कि राज्य में विधानसभा निलंबित चल रही है और 19 जून से यहां राज्यपाल शासन लगा हुआ है।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक को चिट्ठी लिखकर कहा था कि उनके पास बहुमत है। उन्होंने लिखा कि पीडीपी राज्य में 29 सदस्यों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है। सरकार बनाने के लिए हमारी पार्टी को कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने समर्थन देने का फैसला किया है। उन्होंने लिखा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के पास 15 और कांग्रेस के पास 12 सदस्य है। ऐसे में विधानसभा सदस्यों की कुल संख्या 56 हो जाती है।

महबूबा ने कहा कि मैं श्रीनगर में हूं, तत्काल आपसे मुलाकात करना संभव नहीं है और इसलिए यह आपको सूचना देने के लिए है कि हम आपकी सुविधानुसार जल्द ही राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए मिलना चाहते हैं।’


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *