महेशपुर रेंज में पीएसी तैनात, सीसीएफ प्रवीण राव ने घटना स्थल ​का किया निरीक्षण

महेशपुर रेंज में पीएसी तैनात, सीसीएफ प्रवीण राव ने घटना स्थल ​का किया निरीक्षण



Lakhimpur Khiri. बाघ के हमले से आक्रोशित ग्रामीणों द्वारा महेशपुर रेंज कार्यालय में आगजनी, तोड़फोड़, वनकर्मियों की पिटाई और सड़क जाम की घटना के दूसरे दिन लखनऊ मंडल के मुख्य वन संरक्षक के. प्रवीण राव लखीमपुर खीरी पहुंचे। मुख्य वन संरक्षक ने बफरजोन के डीडी डॉ. अनिल कुमार पटेल के साथ बाघ के हमले वाला घटनास्थल देखा और फिर अयोध्यापुर पहुंच कर ग्रामीणों से संवाद स्थापित करने की कोशिश की। वहीं आगजनी व तोड़फोड़ से वीरान हुई रेंज कार्यालय की सुरक्षा के लिए सीतापुर से बुलाकर डेढ़़ सेक्शन पीएसी तैनात कर दी गई है।

CCF K Pravin Rao

 

मुख्य वन संरक्षक के. प्रवीण राव ने कहा कि जल, जंगल व वन्यजीव भी यहीं रहेंगे। उनसे लोगों को सचेत होकर रहना होगा। जंगल में मानव का हस्तक्षेप कम करना होगा। वन्यजीवों की प्राकृतिक सुविधाओं को सुरक्षित कर उनको जंगल से बाहर निकलने से रोका जा सकता है। इसके बाद उन्होंने वनकर्मियों को ग्रामीणों से संवाद बढ़ाने, समूह में निकलने, बैनर पोस्टर लगाकर सचेत करने, गस्त बढ़ाने का निर्देश देते हुए कुछ स्थानों पर लाइटें लगाने के लिए कहा।

सीसीएफ ने ग्रामीणों से संवाद स्थापित करने की कोशिश की लेकिन, उन्हें कोई खास सफलता मिलती नहीं दिखी। इस मौके पर एसडीएम अखिलेश यादव, एसडीओ रविशंकर शुक्ला, रेंजर बनारसी दास, वन दारोगा ओमप्रकाश वर्मा, राम नरेश वर्मा, जगदीश, राजेश कुमार, ब्रजेश कुमार के अलावा गोला, शारदानगर, मैलानी, भीरा रेंज के वनकर्मी मौजूद रहे।

CCF K Pravin Rao

आगजनी के विरोध में कार्य बहिष्कार की चेतावनी

महेशपुर रेंज कार्यालय में आगजनी और तोड़फोड़ की घटना के विरोध में वनकर्मियों ने आक्रोश जताया। वन कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष नागेंद्र पांडेय ने कहा महेशपुर रेंज में हुई घटना को शासन स्तर तक पहुंचाया जाए। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं से वनकर्मियों का मनोबल गिर रहा है। जब भी मानव-वन्यजीव संघर्ष में ग्रामीणों के बीच अराजकतत्वों द्वारा वनकर्मियों को निशाना बनाया गया, विभाग की ओर एफआईआर दर्ज की गई, लेकिन पुलिस की ओर किसी भी अराजकतत्व की गिरफ्तारी नहीं की गई। वनकर्मियों ने चेतवनी देते हुए कहा कि अगर एक सप्ताह के अंदर आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं की गई तो सभी संगठन एकजुट होकर कार्य बहिष्कार करेंगे। इस दौरान वनकर्मियों ने गोला पहुंचकर सीसीएफ को ज्ञापन भी सौंपा। इस दौरान नरेंद्र, कपिल मिश्रा, अशोक शुक्ला, रमाशंकर पांडेय, शाकिर समेत तमाम लोग थे।

बाघ खोजने पहुंचे हाथी, एक्सपर्ट, ड्रोन भी उड़ाया

आगजनी, तोड़फोड़ की घटना के बाद वन विभाग भी काफी सजग हो गया है। बाघ की लोकेशन ट्रेस करने के लिए दुधवा से हाथी व एक्सपर्ट टीम के साथ दुधवा वार्डन अमरेश और एसटीपीएफ के जवानों को लगाया गया है।

वनकर्मी राम नरेश वर्मा, बनारसी दास, अशोक शुक्ला सहित तमाम वनकर्मी और अन्य लोगों ने महेशपुर, बिहारीपुर और नया गांव सहित जंगल के किनारे कॉम्बिंग की, लेकिन वनकर्मियों को कहीं बाघ की लोकेशन नहीं मिली। फिलहाल मौके पर हाथी तथा वनकर्मियों को रोका गया है, ताकि बाघ को जंगल की ओर खदेड़ा जा सके।

यह भी पढ़ें … अखिलेश यादव ने किया बड़ा ऐलान, इन 24 सीटों पर उतारेंगे प्रत्याशी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *