महागठबंधन में हुआ तय, 2019 में पीएम पद के लिए इनके नाम पर लग सकती है मुहर

महागठबंधन में हुआ तय, 2019 में पीएम पद के लिए इनके नाम पर लग सकती है मुहर



New Delhi. आगामी लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर सभी दलों ने तैयारियां तो जरूर शुरू कर दी है, लेकिन गैरभाजपाई दलों के सामने चुनौतियां भी कई सामने आ रही है। गैरभाजपाई दलों के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि नरेंद्र मोदी के सामने महागठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री का प्रत्यशी कौन होगा। ये सवाल सभी दलों को कचोट रहा है।

mayawati

लोकसभा चुनाव 2019 में एक साल से भी कम का समय बचा है, ऐसे में सभी दलों ने चुनावी तैयारियों को लेकर काम करना शुरू कर दिया है। वहीं, सोशल मीडिया पर भी चुनाव को लेकर बहस छिड़ चुकी है। सोशल मीडिया पर चल रहीं खबरों के मुताबिक महागठबंधन मायावती को प्रधानमंत्री प्रत्याशी बनाने पर विचार कर सकता है।

यह भी पढ़ें … बसपा का मास्टर स्ट्रोक, मायावती का पोस्टर देख अखिलेश-राहुल के उड़ जाएंगे होश

बताया जा रहा है कि मायावती के नाम पर सभी पार्टियां सहमत हो सकती हैं, क्योंकि मायावती दलितों का नेतृत्व करती हैं और उनके लिए अपनी आवाज बुलंद करती हैं। एससी/एसटी एक्ट, आरक्षण और दलितों के साथ हो रही घटनाओं को लेकर दलित समाज में भाजपा के खिलाफ नाराजगी है। यही नहीं, भाजपा के दलित नेता भी पार्टी की नीतियों को लेकर कई बार असहमति जता चुके हैं।

वहीं, बहुजन समाज पार्टी पूरे देश में दलितों को एकजुट करने में जुटी हुई है। माना जा रहा है कि अगर दलित वोट बसपा के खेमे में चला गया तो बसपा सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर सकती है। तो ऐसे में महागठबंधन मायावती को प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी बना सकता है। बता दें कि 2014 के चुनावों में बीजेपी को दलितों ने भरपूर समर्थन किया था, लेकिन अब दलितों को बीजेपी से मोहभंग हो रहा है। दलित अन्य दलों की ओर रूख कर सकते हैं। ऐसे में बसपा उनका ठिकाना फिर से बन सकता है। हालांकि भाजपा भी डैमेज कंट्रोल में जुटी हुई है, लेकिल वह कहां तक सफल हो पाती है, ये चुनाव बाद ही पता चल पाएगा।

यह भी पढ़ें … भाजपा में शामिल होगा ये शक्तिशाली मुस्लिम चेहरा, राजनीतिक दलों में मचा हाहाकार


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *