बड़ी खबर: लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को तगड़ा झटका, सैंकड़ों नेताओं ने बसपा का थामा दामन

बड़ी खबर: लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को तगड़ा झटका, सैंकड़ों नेताओं ने बसपा का थामा दामन



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

New Delhi. आगामी लोकसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों में सुगबुगाहट शुरू हो गई है। राजनीतिक दल के नेता अपनी—अपनी रोटियां सेंकने लगे है। आम चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी और अकाली दल को उस वक्त तगड़ा झटका लगा जब सैकड़ों कार्यकर्ता बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए।

बहुजन समाज पार्टी को हलका विधानसभा फगवाड़ा में उस समय भारी राजनीतिक ताकत मिली, जब पूर्व ब्लॉक समिति मेंबर रजनी बंगड़, परमजीत बंगड, बलविंदर सिंह, गुलशन कुमार, प्रेम कुमार, परमजीत, आकाश बंगड़ प्रधान डॉ. आंबेडकर ब्लड आर्गेनाइजेशन पंजाब, गुरमेल लाल, रमेश लाल, गुरचरन सिंह, अमरीक सिंह, सनी, राम चंद, सतविंदर कुमार, सुखदेव सिंह, परमजीत सिंह, रवीन्द्र पाल, अजय कुमार, न¨रदर सिंह, राम जी, निर्मल सिंह, गुरजोत सिंह, पमा, साबी, चरनजीत सिंह, मनी, सुक्खा, राकेश, गुरमुख, अमन आदि सैंकड़ों समर्थकों सहित अकाली-भाजपा को छोड़ बसपा में शामिल होने का एलान कर दिया।

यह भी पढ़ें … गुजरात के इस बड़े नेता ने मायावती को दिया समर्थन: कहा, लोकसभा चुनाव में करें नेतृत्‍व

नए शामिल हुए वर्करों का स्वागत करने के बसपा पंजाब के प्रधान रशपाल राजू फगवाड़ा पहुंचे। उन्होंने रेस्ट हाउस व भुल्लाराई में आयोजित दो अलग-अलग समारोह में वर्करों को पार्टी में शामिल करवाया तथा भरोसा दिया कि उन्हे बसपा में पूरा सम्मान मिलेगा। रशपाल राजू ने कहा कि इस समय देश बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है। केंद्र की मोदी सरकार के कार्यकाल में अनुसूचित जाति और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार बढ़ गया। है।

उन्होंने बसपा वर्करों को निर्देश दिया कि जिला परिषद, ब्लॉक समिति व पंचायती चुनाव को लोकसभा चुनाव का ट्रायल समझ कर वोटरों के साथ घर-घर जा कर संपर्क करे। उन्होंने बताया कि पार्टी की नीति अनुसूचित जाति और अल्पसंख्यकों का विकास करना है तथा उनके हकों को दिलाना है। इस अवसर पर जोन इंचार्ज रमेश कौल, डॉ. सुखवीर सलारपुर, जोन इंचार्ज लाल चंद औजला, जिला इंचार्ज लेखराज, जिला इंचार्ज राम स्वरूप सरोआ, अमृतपाल भोंसले, परमजीत खल्याण, हलका विधानसभा प्रधान चरंजी लाल, परिमन्द्र, ज्ञान आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें … लोकसभा चुनाव से पहले अखिलेश ने इस नेता को दी बड़ी जिम्मेदारी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *