चुनाव 2019: भाजपा ने पिछड़ों को लुभाने के लिए इस नेता को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

चुनाव 2019: भाजपा ने पिछड़ों को लुभाने के लिए इस नेता को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी



Lucknow. आगामी लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने तैयारियां करनी शुरू कर दी है। अब भाजपा ने उत्तर प्रदेश में पिछड़े वर्ग के वोटरों को लुभाने के लिए नई रणनीति के तहत काम करना शुरू कर दिया है। जहां केंद्र की मोदी सरकार ने पिछड़ों को लुभाने के लिए अन्य पिछड़ा आयोग को संवैधानिक दर्जा दिला दिया। वहीं यूपी में भाजपा पिछड़ी जातियों को एक-एक कर साधने में जुट गई है।

प्रदेश में सपा, कांग्रेस और बसपा में महागठबंधन को लेकर चर्चा जोर पकड़ रही है। इस देखते हुए भाजपा नेतृत्व ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को बड़ी जिम्मदारी दे दी है। बताया जा रहा है कि उन्हें भाजपा ने पिछड़ी जातियों का जातिवार सम्मेलन करने और उन्हें पार्टी से जोड़ने की जिम्मेदारी सौंपी है। बताया जा रहा है कि यह फरमान पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की ओर से जारी किया गया है। इस फरमान के जारी होते की भाजपा ने रणनीति बनानी शुरू कर दी है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि पिछले दो दिनों में भाजपा कुम्हार, नाई और राजभर जैसे अति पिछड़ी जातियों का सम्मेलन किया है। बताया जा रहा है कि अगले कुछ ही दिनों में दूसरी जातियों का भी सम्मेलन बुलाने जा रही है।

सपा-बसपा को जमकर कोसा

पिछले दिनों हुए सम्मलनों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ने मोदी सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों को उनके सामने रखा है। बताया जा रहा है कि बैठक में योगी ने कुम्हारों के सम्मेलन में एक ओर तो माटी कला की बात की, वहीं जाति के नाम पर सपा और बसपा को भी जमकर कोसा।

यह भी पढ़ें … महागठबंधन पर मनीष सिसोदिया ने कही ये बड़ी बात: बोले, मायावती-अखिलेश …

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने नग्न तांडव किया। पिछड़ों के नाम पर पिछड़ों और दलितों को वंचित किया गया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद भी कई जातियों को विकास योजना का लाभ नहीं मिला।

पीएम की जाति का किया उल्लेख

वहीं, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इन सम्मेलनों में प्रधानमंत्री मोदी को देश का सबसे ताकतवर और बड़ा नेता बताते हुए उनकी जाति का भी उल्लेख किया और कहा कि जब देश का प्रधानमंत्री पिछड़ी जाति का है तो इन जातियों को अब कहीं और देखना नहीं चाहिए। इन सम्मेलनों के बाद केशव मौर्य ने आज तक से खास बातचीत की और पिछड़ी जातियों के लिए हो रहे इन सम्मेलनों के बारे में बताया। इसके बाद बीजेपी गुर्जर, जाट, सैनी, शाक्य, मल्लाह, निषाद समेत और दूसरी जातियों की भी मीटिंग आयोजित कर रही है। उन्हें भी इसके जरिए बीजेपी की विचारधारा की घुट्टी पिलाई जाएगी।

यह भी पढ़ें … छात्रों को झटका: अब दोबारा होगी यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *