इस महिला को चुनाव में उतारेगा विपक्ष, बैठक में हुई चर्चा

इस महिला को चुनाव में उतारेगा विपक्ष, बैठक में हुई चर्चा



New Delhi. आगामी लोकसभा चुनाव 2019 से पहले विपक्षी दलों ने एकजुटता दिखाने के लिए कमर कस ली है। लोकसभा चुनाव से पहले राज्यसभा के उपसभापति के चुनाव के लिए विपक्षी दलों ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की सांसद वंदना चव्हाण को अपना उम्मीदवार घोषित कर सकता है। अंतिम निर्णय मंगलवार शाम लिया जा सकता है। चुनाव नौ अगस्त को होना है। विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के कक्ष में हुई विपक्षी नेताओं की बैठक में शामिल रहे एक नेता ने कहा कि उनके नाम पर काफी चर्चा हो रही है। उम्मीदवार के नाम पर अंतिम फैसला लेने के लिए सभी दलों ने शाम को एक और बैठक करने का फैसला किया है।

सांकेतिक फोटो

सूत्रों ने कहा कि विपक्ष के उम्मीदवार पर समर्थन लेने के लिए राकांपा प्रमुख शरद पवार के शिवसेना और बीजू जनता दल (बीजद) से मिलने की संभावना है। कांग्रेस नेताओं के भी नवीन पटनायक की पार्टी से बात करने की संभावना है। शिवसेना अपनी सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से कई मुद्दों पर अलग रुख ले रही है। बैठक में आजाद और पवार के अतिरिक्त कांग्रेस नेता आनंद शर्मा, समाजवादी पार्टी (सपा) के रामगोपाल यादव, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के डेरेक ओ ब्रायन, बहुजन समाज पार्टी के सतीश चंद्र मिश्रा, राष्ट्रीय जनता दल की मीसा भारती, द्रविण मुनेत्र कणगम से तिरुचि सिवा और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से डी. राजा शामिल रहे।

यह भी पढ़ें … मायावती ने कहा, भाजपा करे ये काम तो बसपा करेगी समर्थन

विपक्ष उनके अतिरिक्त तिरुचि सिवा को भी उम्मीदवार बना सकता है। इस चुनाव में मुकाबला काफी नजदीकी रहने की संभावना है, क्योंकि संख्या के हिसाब से विपक्ष भाजपा-नीत राजग से थोड़ा आगे है। बीजद, अन्ना द्रमुक, तेलंगाना राष्ट्र समिति और वाईएसआर कांग्रेस जैसे दलों के विशेष परिस्थितियों में सरकार के समर्थन में जाने की संभावना होने के कारण इसका परिणाम इन दलों पर निर्भर है।

विपक्ष के उम्मीदवार को समर्थन करने वाले संभावित दलों में कांग्रेस (50), टीएमसी (14), सपा (13), तेदेपा (6), माकपा (5), भाकपा (2), द्रमुक (4), राकांपा (4), आप (3), बसपा (4), राजद (5), पीडीपी (2), जद-एस (1), नामित (1), केरल कांग्रेस-मणि (1) और आईयूएमएल (1) हैं। राज्यसभा के सभापति एम. वेकैया नायडू ने सोमवार को उच्च सदन के उपसभापति के लिए नौ अगस्त को चुनाव की घोषणा की थी। यह चुनाव संसद के मॉनसून सत्र की समाप्ति से एक दिन पहले हो रहा है।

यह भी पढ़ें … अखिलेश सरकार के मुकाबले योगी सरकार फ्लॉप!


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *