भाकियू का धरना प्रदर्शन हुआ उग्र, नहीं दिया एसडीएम को ज्ञापन

भाकियू का धरना प्रदर्शन हुआ उग्र, नहीं दिया एसडीएम को ज्ञापन



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

गोला गोकर्णनाथ, खीरी। भारतीय किसान यूनियन द्वारा विभिन्न मागों को लेकर तहसील में किये गये धरना प्रदर्शन के दौरान ज्ञापन देने लेने को लेकर किसान नेताओं और प्रशासन में तनातनी हो गई। आक्रोशित सैकडों कार्यकर्ता एसडीएम के बजाए डीएम को ज्ञापन देने के जिद के साथ तहसील से जनपद के लिए पैदल कूच कर गए।

किसानों की विभिन्न समस्याओं के बीस सूत्रीय मांगपत्र को लेकर भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक ने तहसील में धरना प्रदर्शन का ऐलान किया था। भाकियू के तहसील अध्यक्ष महेशचद्र वर्मा के नेतृत्व में किसान मजदूरों की विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए तहसील परिसर में किसान पंचायत का आयोजन किया था।

यह भी पढ़ें … जेके डिग्री कॉलेज में निःशुल्क मोतिया बिन्द शिविर का आयोजन

संगठन ने राशनकार्ड, विधवा, वृद्वावस्था, विकलांग पेशन, आबादी एवं कृषि योग्य जमीनों एवं तालाबों का आबंटन मुनादी कराकर खुली बैठकों में पात्रों को दिए जाने, बिजली के करंट से लोगों की मौतों पर मुआवजा, पंजीकृत मनरेगा, जाबकार्ड धारकों को काम दिए जाने, वन्य क्षेत्रों से सटे ग्रामों में बाघों व हिंसक पशुओं से होने वाली मौतों, आवारा पशुओं से निजात दिलाने सहित बकाया गन्ना भुगतान ब्याज सहित दिलाए जाने, धान क्रय केंद्रो को चालू कराए जाने आदि मांगों को लेकर बीस सूत्रीय ज्ञापन एसडीएम को दिए जाने के लिए धरना किया।

दोपहर बाद तक शांति पूर्वक चल रहे धरने में अचानक गतिरोध आ गया। हुआं यूं कि यूनियन के नेताओं से धरनास्थल पर एसडीएम के ज्ञापन लेने के लिए न पहुंचने पर यूनियन के नेताओं में उबाल आ गया। सैकडों की संख्या में यूनियन के आक्रोशित महिला, पुरुषों ने तहसील से पैदल लखीमपुर के लिए कूच कर दिया। धरना में मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह चौहान, जिलाध्यक्ष एवं प्रभारी सीतापुर श्यामू शुक्ला, विकास शुक्ला, आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें … पालिकाध्यक्ष मीनाक्षी अग्रवाल ने मंदिर परिसर का किया निरीक्षण

प्रशासनिक अधिकारियों से कई दौर चली वार्ता असफल

यूनियन के नेताओं के जनपद पैदल कूच को लेकर प्रशासन में हडकंप मच गया। प्रभारी निरीक्षक प्रमोद कुमार मिश्रा ने पुलिस बल के साथ सदर चौराहे पर यूनियन के नेताओं से वार्ता कर ज्ञापन लेने का प्रस्ताव रखा। लेकिन पदाधिकारी तैयार नहीं हुये, इसके बाद तहसीलदार राजेश ने यूनियन के लोगों से ज्ञापन लेने के लिए कहा। लेकिन यूनियन ने एसडीएम को ही ज्ञापन देने की जिद की। जिस पर एसडीएम अखिलेश यादव मौके पर और बहसबाजी के बाद वार्ता असफल हो गई। क्षेत्राधिकारी अभिषेक प्रताप ने यूनियन के नेताओं से वार्ता की, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला और किसान पैदल ही जनपद की ओर कूच कर गए।


यूनियन के नेताओं से पहले ज्ञापन लेने के लिए कहा गया। जिस पर उन्होने मना कर दिया। इसके बाद वह न्यायालय में मुकदमे सुनने लगे। जिस कारण ज्ञापन नहीं ले सके। बाद में यूनियन के लोगों ने ज्ञापन देने से इंकार कर दिया। मैं दोबारा ज्ञापन लेने के लिए जा रहा हूं।

अखिलेश यादव,  एसडीएम, गोला गोकर्णनाथ, खीरी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *