दस्तावेजों में धोखाधड़ी कर श्री रामरतन शास्त्री महाविद्यालय की सम्पत्ति हड़पने का आरोप

दस्तावेजों में धोखाधड़ी कर श्री रामरतन शास्त्री महाविद्यालय की सम्पत्ति हड़पने का आरोप



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

गोला गोकर्णनाथ, खीरी। हैदराबाद थाना क्षेत्र स्थित एक डिग्री कालेज की समिति में धोखाधडी से बदलाव कर संस्था पर काबिज होने का मामला प्रकाश में आया। पीडित प्रबन्धक की तहरीर पर पुलिस ने चार आरोपितों के नामजद मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।


जानकारी के मुताबिक, हैदराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम कोठी गनेशपुर निवासी गौरव शर्मा ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा कि उसने प्रियाकांत तिवारी, पंकज ज्योतिषी, राजेंद्र शर्मा, अमित वशिष्ठ, हीना मुदगिल, सुनीता भास्कर, निशांत शर्मा, शशिकिरण, पूजा तिवारी, सत्यभामा, ज्योति सिंह के साथ मिलकर सामाजिक कार्य करने की मंशा से एक सोसाइटी रजिस्ट्रार फर्म्स सोसाइटीज एवं चिट्स फंड लखनऊ से पंजीकरण कराया था।

यह भी पढ़ें … राष्ट्रपति ने लखीमपुर खीरी की इस छात्रा को डिनर पर बुलाया

समिति के सदस्यों की सहमति से सात सदस्यीय प्रबंध समिति गठित हुई। जिसमें राजेंद्र शर्मा अध्यक्ष, पंकज ज्योतिषी उपाध्यक्ष, गौरव शर्मा प्रबंधक, प्रियकांत तिवारी कोषाध्यक्ष चुने गए। इसी के साथ समिति ने क्षेत्र के विद्यार्थियों की सुविधा के लिए महाविद्यालय खोला। तथा अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने अपनी ढाई एकड भूमि विद्यालय के नाम दान की। इसके बाद वर्ष 2017 में 9 एकड भूमि का बैनामा महाविद्यालय के नाम कराया।

फर्जी इस्तीफा दिखा दिया

वर्तमान में महाविद्यालय के नाम करीब 11 एकड भूमि दर्ज है। जबकि इमारत की कीमत लगभग एक करोड रुपए है तथा लगभग 25 से 30 लाख रुपए की फीस जमा होती है। पीडित ने आरोपित करते हुए बताया कि महाविद्यालय समिति की संपत्तियों व प्रतिभूतियों को हडपने की मंशा से प्रियकांत तिवारी, पंकज ज्योतिषी, सत्यभामा ज्योतिषी व पूजा तिवारी ने समिति के सदस्यों को बिना किसी सूचना एवं कार्रवाई के एक कार्यकारिणी सूची बना समिति के मूल सदस्य गौरव शर्मा एवं राजेंद्र शर्मा का फर्जी इस्तीफा दिखा दिया तथा नई प्रबंध समिति की सूची बनाकर संबंधित विभागों सहित कानपुर विश्वविद्यालय में दाखिल कर दी।

यह भी पढ़ें … चुनाव 2019: भाजपा की नजर बसपा पर, मायावती बन सकती हैं उप प्रधानमंत्री

पुलिस ने दर्ज किया मामला

श्री रामरत्न सेवा संस्थान के नाम से संचालित संस्था का नवीनीकरण करा समिति के कर्ताधर्ता बन गए। पीडित ने आरोपित करते हुए बताया कि समिति के माध्यम से महाविद्यालय व उससे जडी संपत्तियों पर एकाधिकार कर हडपने की मंशा से उक्त चारों आरोपितों ने उसके व राजेंद्र शर्मा के फर्जी हस्ताक्षर व दस्तावेजों में कूट रचना कर पूर्व गठित मूल्य कार्यकारिणी में छल से परिवर्तन कर महाविद्यालय की संपत्तियों व प्रतिभूतियों को हडपने का प्रयास किया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।


तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही हैं। दोषियों के विरुद्व विधिक कार्रवाई की जाएगी।

सतेन्द्र कुमार सिंह, थानाध्यक्ष हैदराबाद, खीरी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *