बम-बम भोले के जयकारों से गुंजायमान हो उठी छोटी काशी

बम-बम भोले के जयकारों से गुंजायमान हो उठी छोटी काशी



गोला गोकर्णनाथ खीरी। सावन के पहले सोमवार पर छोटी काशी के पौराणिक शिव मंदिर में हर-हर महादेव और बम-बम भोले के जयघोष से गुंजायमान हो उठी। लाखों श्रद्धालुओं ने भगवान शिव का जलाभिषेक कर सुखमय जीवन की कामना की।

गोला शहर छोटी काशी के नाम से विख्यात है और यहां का त्रेतायुगीन माना जाने वाला शिवमंदिर श्रद्धालुओं की आस्था का प्रतीक बना हुआ है। सावन के पहले सोमवार पर भोर से ही लगातार रिमझिम बारिश होने से श्रद्धालुओं को कुछ दिक्कतों का सामना करना पडा, हालांकि इसके बावजूद श्रद्धालुओं के उत्साह में कहीं कोई कमी नहीं नजर आई। प्रातःकाल से ही गूजंते घंटे घडि़याल शंख ध्वनि और भोले बाबा के जयघोष साक्षात तीर्थ स्वरूप प्रदान कर रहे थे।

यह भी पढ़ें … सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में धांधली, एसटीएफ ने 51 को किया गिरफ्तार

तीर्थ सरोवर में लगाई डुबकियां

तीर्थ सरोवर में डुबकियां लगाने वाले, और स्नान ध्यान करने वाले आस्थाओं से लबरेज थे तो कतारों में मंदिर तक पहुंचने को अपनी बारी की प्रतीक्षा करने वालों का छोर ही नहीं था। चूड़ी वाली गली, अंबेडकर पार्क के निकट की गली, स्टेशन रोड की गलियों में बस हर किसी को मंदिर तक पहुंचने की जल्दी थी। लोगों ने फल फूल, धूप दीप, नैवेद्य, पूजन सामग्री,दूध, भांग धतूरा, बेलपत्र और प्रसाद आदि सामग्री लेकर आस्था में लीन होकर अवढरदानी का जलाभिषेक पूजन किया और यह सिलसिला देर शाम तक चलता रहा।

सावन के पहले सोमवार को मंदिर में भगवान शिव का भव्य श्रंगार पूजन हुआ। जिसमें शिवमंदिर अनूठी आभा से जगमगा उठा जब श्रद्धालुओं को साक्षात दर्शन हुए। उनका दूध, शहद, चंदन वंदन के साथ वस्त्राभूषणों से अभिषेक हुआ और प्रसाद अर्पण के उपरांत आरती के स्वर गूंज उठे। सुबह से ही एसडीएम अखिलेश यादव, सीओ अभिषेक प्रताप अजेय, नायब तहसीलदार विकासधर दुबे, इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार मिश्रा सहित तमाम अधिकारी व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे।

एसडीएम ने कंट्रोल रूम से जांची सुरक्षा

पुलिस प्रशासन द्वारा बेशुमार भीड़ का को नियंत्रित करने के लिए जगह जगह बैरियर लगाए गए थे। जिन पर फोर्स के जवान तैनात थे और कंट्रोल रूम से सावधानी संदेशों का जहां प्रसारण किया जा रहा था। वहीं मंदिर और श्रद्धालुओं पर नजर रखने के लिए नगर पालिका परिषद द्वारा 13 सीसीटीवी कैमरे द्वारा नजर रखी जा रही थी। एसडीएम अखिलेश यादव मंदिर परिसर और आसपास का जायजा लेने के बाद सीसीटीवी कैमरे का कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया।

यह भी पढ़ें … लोकसभा चुनाव: …तो इसलिए मायावती हैं पीएम पद के लिए मजबूत दावेदार

अवकाश से विद्यार्थियों को मिली राहत

सावन के सोमवार को अवकाश घोषित हो जाने के कारण शहर के नर्सरी से इण्टर तक के लगभग सभी स्कूल कालेज बंद रहे। जिससे छात्र छात्राओं को भीड़ में फंसने से राहत मिल गई।

यह भी पढ़ें … यमुना खतरे के निशान से ऊपर, दिल्ली में बाढ़ जैसे हालात, कई ट्रेनें निरस्त


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *