गन्ने का भुगतान जल्द न हुआ तो सड़कों पर उतरेगी सपा

गन्ने का भुगतान जल्द न हुआ तो सड़कों पर उतरेगी सपा



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

गोला गोकर्णनाथ, खीरी। राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आह्वान पर किसानों की दुर्दशा, सरकार की किसानों से वादा खिलाफी, गन्ना भुगतान आदि लेकर राज्य सभा सांसद रविप्रकाश वर्मा के नेतृत्व में चीनी मिल गेट पर धरना प्रदर्शन किया गया। सपा कार्यकर्ता भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर बरसे और कहा कि किसान विरोधी यह सरकार नहीं चलेगी हम इसे उखाड़ कर दम लेंगे।

पूर्व विधायक विनय तिवारी ने धरना स्थल पर सम्बोधित करते हुये कहा कि भाजपा ने विधान सभा चुनाव के समय अपने घोषणापत्र में गन्ना मूल्य का भुगतान 14 दिन के अंदर करने का वायदा किया था। किन्तु वह अपने घोषणा पत्र पर अमल नहीं कर पाई है। उन्होंने कहा कि चीनी मिल ने अब तक 3 फरवरी तक का बकाया गन्ना मूल्य भुगतान किया है। जिसके चलते किसान अपने बच्चों की पढ़ाई लिखाई शादी विवाह व फसल में खाद पानी की व्यवस्था तक नहीं कर पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें … लोकसभा चुनाव: गठबंधन को लेकर समाजवादी पार्टी ने लिया ये बड़ा फैसला

सड़कों पर उतर कर लड़ी जाएगी लड़ाई

राज्य सभा सांसद रविप्रकाश वर्मा ने कहा कि सत्ता में आने से पहले भाजपा सरकार ने यह कहा था की गन्ने का पेमेंट 14 दिन के भीतर दिलाया जाएगा परंतु ऐसा नहीं हुआ और केवल बजाज चीनी मिल पर ही 15 हजार करोड़ से अधिक बकाया है जब तक यह नहीं मिलेगा तब तक समाजवादी पार्टी चैन से नहीं बैठेगी। उन्होंने कहा कि अभी यह धरना सांकेतिक है यदि अब भी समाधान नहीं हुआ तो सड़कों पर उतर कर लड़ाई लड़ी जाएगी। इस दौरान वक्ताओं ने बकाए के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया गया सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई। धरने का संचालन विधान सभा अध्यक्ष अशोक वर्मा ने किया।

नायब तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

अन्त में महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित तीन सूत्रीय ज्ञापन नायब तहसीलदार विकास धर दुबे को सौंपा गया। इस मौके पर प्रधान इरफान खान, रामनरेश, प्रदीप कुमार, जितेंद्रपाल यादव, पदुमचंद यादव, बलवीर सिंह यादव, रमेंश सिंह यादव, ओमप्रकाश, संदीप अवस्थी, लोकेश गुप्ता, नवल किशोर अवस्थी, विजय पाठक, शेर सिंह यादव, रामनरेश यादव, कुलवंत सिं हीरालाल वर्मा, अरविन्द वर्माश्रीपाल वर्मा आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें … बसपा सुप्रीमो मायावती ने बढ़ाई मोदी और शाह की धड़कनें!


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *