संसद का मानसून सत्र 18 से, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

संसद का मानसून सत्र 18 से, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा



नई दिल्ली। संसद का मॉनसून सत्र 18 जुलाई से 10 अगस्त तक चलेगा। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने सोमवार को यहां इस बात की जानकारी दी। गृहमंत्री की अध्यक्षता वाली राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक में यह फैसला किया गया।

18 कार्य दिवसों के सत्र के दौरान सरकार तीन तलाक और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए राष्ट्रीय आयोग को संवैधानिक दर्जा देने से संबंधित समेत विधेयकों को लाने पर जोर दे सकती है। बैठक के बाद अनंत कुमार ने मीडिया को बताया कि सभी राजनीतिक दलों से सत्र को सफल बनाने के लिए सरकार के साथ सहयोग करने की अपील की गई है।

यह भी पढ़ें ..मायावती के नक्शेकदम पर बीजेपी, 2019 के लिए चलेगी ये दांव

मंत्री ने कहा कि सरकार के कार्य में संविधान (123वां संशोधन) विधेयक 2017, मुस्लिम महिला (शादी पर सुरक्षा का अधिकार) विधेयक 2017, समलैंगिक व्यक्ति (अधिकार संरक्षण) विधेयक 2016, राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग विधेयक 2017, बच्चों को निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार(द्वितीय संशोधन) विधेयक 2017 समेत कई महत्वपूर्ण विधेयकों पर संसद के दोनों सदनों में विचार किया जाना और उन्हें पारित करना शामिल है।

यह भी पढ़ें … बड़ी खबर: मायावती ने पार्टी मेें फिर किया बड़ा फेरबदल, अब इन्हें सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

विधायी कार्यो में मॉनसून सत्र से पहले अंतर-सत्र अवधि के दौरान प्रक्षेपित छह अध्यादेशों को पारित करना भी शामिल होगा। कुमार ने कहा कि सत्र के दौरान राज्यसभा के उपाध्यक्ष पद के लिए भी चुनाव कराया जाएगा, क्योंकि पी.जे. कुरियन का कार्यकाल इस महीने समाप्त हो रहा है।


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *