कब्जे का खेल, रसूखदार के नाम तालाब बना भूमिधरी

कब्जे का खेल, रसूखदार के नाम तालाब बना भूमिधरी



गोला गोकर्णनाथ, खीरी। तहसील क्षेत्र के एक ग्राम के तालाब पर राजस्व दस्तावेजों में कूटरचना कर तालाब से भूमिधरी भूमि घोषित करा लिया गया। इसके बाद ग्राम के रसूखदारों ने तालाब पर पटाई कराकर प्लाटिंग शुरु कर दी। जिस पर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के सुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराते हुए कार्रवाई व सुप्रीम कोर्ट की मंशा के अनुसार तालाब की सुरक्षा की मांग उठाई है।

सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो

तहसील क्षेत्र में एक तालाब को अवैध तरीके पटाई कर प्लाट काटने की मामले को लेकर ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के सुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराते हुए कार्रवाई की मांग की है। समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली उत्तर प्रदेश के पोर्टल पर दर्ज कराई शिकायत में आवेदनकर्ता विमल सिंह पुत्र शिवचरन निवासी ब्लाक बांकेगंज ग्राम पंचायत पुनर्भूग्रंट सहित दर्जनों ग्रामीणों बाबू सिंह, रंजीत सिंह, प्रमोद कुमार, सुभाष चंद्र, अजय सिंह, अनिल आदि ने मुख्यमंत्री को भेजी शिकायत में बताया कि ग्रामसभा पुनर्भूग्रंट के मजरा भवानीगंज स्थित पचास बीघा से अधिक रकबे का एक पुरातन तालाब है, जो कि ग्रामीणों द्वारा सार्वजनिक रुप से उपयोग किया जाता था।

यह भी पढ़ें … चुनाव-2019: भाजपा के वोट बैंक पर कांग्रेस की नजर, बनाई ये रणनी​ति, मचा हड़कम्प

लेकिन चकबंदी प्रक्रिया के दौरान रसूखदार लोगों ने राजस्व अभिलेखों मे कूटरचना कराते हुए 19 जून 2018 को दो जेसीबी मशीनों व टेक्टर टालियों से तालाब की पटाई शुरु करा दी। जिस पर ग्रामीणों ने एसडीएम व कानूनगो, लेखपाल को सूचना देकर बताया गया। लेकिन रसूखदार लोगों के दखल के आगे कोई सुनवाई नहीं हुई और ग्रामीणों के विरोध को देखते हुए जेसीबी व टैक्टर से मिटटी पटाई करने वाले मौके से चले गए। ग्रामीणों ने तालाब पर कब्जे को रोके जाने व सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के पालन कराकर तालाबों की सुरक्षा किए जाने व कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें … भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर कमांडर समेत दो आतंकी ढेर


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *