मध्य प्रदेश चुनाव : बसपा ने अब बनाई यह रणनीति, कांग्रेस-भाजपा में हड़कम्प

मध्य प्रदेश चुनाव : बसपा ने अब बनाई यह रणनीति, कांग्रेस-भाजपा में हड़कम्प



New Delhi. कर्नाटक में जदएस के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने वाली कांग्रेस अब मध्य प्रदेश में होने वाले चुनावों को लेकर रणनीति बनानी तेज कर दी है। मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने बीते दिनों बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन को लेकर संकेत दिए थे, लेकिन बहुजन समाज पार्टी के ताजा बयानों से ऐसा लग रहा है कि अभी गठबंधन के मूड में नहीं है। हालांकि अभी कांग्रेस और भाजपा में मुकाबला माना जा रहा था, लेकिन बसपा ने नई रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। वहीं, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी चुनावी समर में उतरने का फैसला लिया है। बसपा की नई रणनीति से कांग्रेस और भाजपा दोनों में हड़कम्प मच गया है।

मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। विधानसभा चुनाव की तैयारी के लिए प्रदेश की दोनों मुख्य राजनीतिक पार्टियों बीजेपी और कांग्रेस ने ताल ठोंक दी है। बीते 15 साल से राज्य में सत्ता चलाने वाला दल भाजपा सत्ता विरोधी लहर को शांत करने के लिए नित नए लोक-लुभावन वादों की झड़ी लगा रहा है। इन सबके बीच मध्यप्रदेश बसपा के प्रदेश अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद अहिरवार ने कहा कि कांग्रेस मध्य प्रदेश में गठबंधन को लेकर झूठा प्रचार कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के इस झूठे प्रचार से उनकी पार्टी को नुकसान हो रहा है।

यह भी पढ़ें … भाजपा का यह बड़ा नेता थाम सकता है बसपा का दामन, भाजपा को झटका

बीएसपी प्रदेश अध्यक्ष ने दावा किया कि प्रदेश में बीएसपी 50 से 55 सीटें जीतेगी। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस नेता जनता के बीच जाकर कह रहे हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए बीएसपी के साथ गठबंधन के लिए कांग्रेस की बातचीत चल रही है। उन्होंने कहा कि मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन के विषय में राज्य स्तर पर हमारी कोई बातचीत नहीं हो रही है। जहां तक मुझे पता है कि केन्द्रीय स्तर पर भी कोई बातचीत नहीं हो रही है।

यह भी पढ़ें … मायावती हुईं नाराज, तीन बड़े नेताओं को पार्टी से किया बाहर

नर्मदा प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के बारे में मुझे केन्द्रीय नेतृत्व से अब तक कोई दिशानिर्देश नहीं मिले हैं। अहिरवार ने बताया कि हम प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। वहीं, मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख माणक अग्रवाल ने कहा कि गठबंधन करने के बारे में हमने किसी पार्टी का नाम नहीं लिया है। हमारी पार्टी ने सिर्फ इतना कहा है कि कांग्रेस समान विचार वाली पार्टियों से मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में गठबंधन करने का प्रयास करेगी। हमने कभी बीएसपी का नाम नहीं लिया।

बता दें कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने हाल ही में मध्यप्रदेश में कांग्रेस-बसपा के गठबंधन के संकेत दिए थे। बीएसपी से गठबंधन के सवाल पर कमलनाथ ने कहा था कि बीजेपी विरोधियों पर कांग्रेस की नजर है। साल 2014 में बीजेपी मात्र 31 फीसदी वोट से सत्ता में आई थी। ऐसे में बीजेपी को रोकने के सभी प्रयास जरूर किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें … मध्यप्रदेश की सियासत में इस युवा नेता ने की इंट्री, भाजपा में हड़कम्प


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *