पीएम मोदी के फैसले से नाराज मायावती ने कही ये बड़ी बात

पीएम मोदी के फैसले से नाराज मायावती ने कही ये बड़ी बात



Lucknow. बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती भारतीय जनता पार्टी पर लगातार हमलावर हैं। मायावती कोई भी मौका नहीं छोड़ना चाहती है। मायावती ने मोदी सरकार के उस फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई है, जिसमें यूपीएससी की परीक्षा पास किए बिना प्राइवेट कम्पनियों में काम करने वाले लोग प्रशासनिक अफसर बन सकेंगे। उनके लिए नियुक्ति के लिए सीधी भर्ती की जाएगी।

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि केंद्र में संयुक्त सचिव का पद राज्यों के सचिव पद के बराबर होता है। केंद्र के 10 विभागों में अनुभव और योग्यता के आधार पर संयुक्त सचिव स्तर के पदों पर बाहरी व्यक्ति को यूपीएसएसी की स्वीकृति के बिना बैठाना सरकारी व्यवस्था का मजाक ही कहा जाएगा। केंद्र की मोदी सरकार गलत परंपरा की शुरुआत कर रही है।’

यह भी पढ़ें … अखिलेश ने की मायावती की तारीफ, 2019 को लेकर किया बड़ा ऐलान

मायावती ने कहा कि यह मोदी सरकार की प्रशासनिक विफलता का परिणाम लगता है। केंद्र की नीति निर्धारण के मामले में बड़े पूंजीपतियों और धन्नासेठों के प्रभाव को इससे और ज्यादा बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। मूल प्रश्न यह है कि केंद्र सरकार किसी भी विभाग में विशेषज्ञों को तैयार कर पाने में खुद को असमर्थ क्यों पा रही है?

यह भी पढ़ें … इन बड़ी पार्टियों ने दिया समर्थन, मायावती बनेगी पीएम पद की उम्मीदवार!


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *