राहुल गांधी के एक ट्वीट ने भाजपा में मचा दी खलबली, ये किया ऐलान

राहुल गांधी के एक ट्वीट ने भाजपा में मचा दी खलबली, ये किया ऐलान



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

New Delhi. कर्नाटक में सरकार बनाने के बाद और उपचुनावों गठबंधन को मिली जीत से भाजपा चारों खाने चित्त हो गई, इससे कांग्रेस में नया जोश और उत्साह देखने को मिल रहा है। महागठबंधन के सहारे 2019 के चुनावों के आम चुनावों में नैया पार लगाने की जुगत में जुटी कांग्रेस रोज नई—नई रणनीति बना रही है। इसी रणनीति के तहत देशभर में किसानों के हो रहे आंदोलन को लेकर कांग्रेस को पूरा खुला समर्थन मिल रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक ट्वीट ने सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी में खलबली मचा दी है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पूरे देश आंदोलन छेड़ने जा रहे हैं। राहुल गांधी छह जून को मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसानों की रैली सम्बोधित करने जा रहे हैं। किसानों का दस दिन गांव बंद कार्यक्रम के तहत पूरे देश में आंदोलन चल रहा है। हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष का ये दौरा पहले से तय था, लेकिन राहुल गांधी के विदेश की धरती से किए गए ट्वीट ने सत्ताधारी दल में खलबली मचा दी है। राहुल गांधी किसानों की इस रैली को और व्यापक रूप देने जा रहे है।

यह भी पढ़ें … लोकसभा चुनाव-2019: कांग्रेस ने बनाई ऐसी रणनीति कि भाजपा में मच गया हड़कम्प

मंदसौर में रैली को सम्बोधित करेंगे राहुल

राहुल गांधी ने मंदसौर में आयोजित किसान रैली में पहुंचने की जानकारी ट्वीट पर देते हुए लिखा है कि हमारे देश में हर रोज 35 किसान आत्महत्या करते हैं। केंद्र सरकार की नीतियों पर निशाना साधते हुए राहुल ने लिखा है कि कृषि क्षेत्र पर छाए संकट की तरफ केंद्र सरकार का ध्यान ले जाने के लिए किसान भाई दस दिनों का आंदोलन करने पर मजबूर हैं।

राहुल चार-पांच को विदेश से लौट रहे हैं उन्होंने लिखा है कि हमारे अन्नदाताओं की हक की लड़ाई में उनके साथ खड़े होने के लिए छह जून को मंदसौर में किसान रैली को संबोधित करूंगा। राहुल ने ट्वीट के साथ आंदोलनरत किसानों की फोटो भी अटैच की है।

मोदी सरकार को घेरेगी कांग्रेस

बता दें कि कांग्रेस किसानों से मुद्दे पर लगातार बोलती जरूर रही है, लेकिन अब पार्टी इस मुद्दे पर किसानों के साथ खड़ी होकर सरकार की मुश्किलें बढ़ाना चाहती है। किसानों की आत्महत्या, कर्ज माफी और सरकार की घोषणा के मुताबिक लागत का पचास फीसदी अधिक समर्थन मूल्यक दिलाने आदि को लेकर मोदी सरकार को घेरेगी।

कांग्रेस किसानों की आमदनी दोगुनी करने को लेकर मोदी सरकारी की समय सीमा 2022 पर भी निशाना साधना चाहती है। कांग्रेस नेता ने कहा कि चार सालों तक किसानों को कोई राहत नहीं मिली है। अब जब लोकसभा चुनाव तक किसानों की एक या डेढ़ फसल होनी है तो सरकार समर्थन मूल्य को लागत का डेढ़ गुना देने की बात कह रही है। जबकि 2018 से अभी तक किसी भी फसल पर लागत का डेढ़ गुना नहीं दिया गया है।

यह भी पढ़ें … मायावती ने बंगला तो खाली कर दिया, पर जाते-जाते भाजपा में मचा गईं खलबली


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *