शाखा प्रबंधक के व्यवहार पर तिलमिलाई जन अधिकारी पार्टी

शाखा प्रबंधक के व्यवहार पर तिलमिलाई जन अधिकारी पार्टी

जांच के आश्वासन के बाद समाप्त हुई भूख हड़ताल


जांच के आश्वासन के बाद समाप्त हुई भूख हड़ताल

पिपरिया धनी, खीरी। क्षेत्र के एक बैक के प्रबंधक द्वारा सरकारी योजनाओं में हीलाहवाली व ग्रामीणों के सरकारी योजनाओं के लिए बैंक जाने पर अपशब्द व अभद्र व्यवहार किए जाने का आरोप लगाते हुए जनअधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन व अनिश्चितकालीन भूख हडताल करते हुए मोर्चा खोल दिया। सूचना पर पहुंचे एसडीएम ने कार्यकर्ताओं को एक सप्ताह में कार्रवाई का आश्वासन देते हुए भूख हडताल समाप्त कराई।

मोहम्मदी क्षेत्र के पिपरिया धनी गांव में जन अधिकार पार्टी ने गरीबों व झोपडी में रहने वाले लोगों के लिए क्षेत्र की पिपरिया धनी स्थित एक बैंक के मैनेजर को आरोपित करते हुए बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का लाभ लेने के लिए जब कोई गरीब व्यक्ति पंजाब एंड सिंध बैंक जाता है।

वहां मैनेजर अपनी अभद्र व्यवहार व अपमानित किया जाता है। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने यह भी कहा कि मैनेजर द्वारा की जा रही अवैध कमाई की जांच की जाए। इस संबंध में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जिलाधिकारी, एसडीएम को कई प्रार्थना पत्र दिए है। किसी प्रकार की कार्रवाई न किए जाने पर भूख हडताल व धरना प्रदर्शन किया गया है। जब तक मांगे पूरी नहीं होगी। तब तक अनिश्चितकालीन भूख हडताल की जाएगी।

यह भी पढ़ें … पालिकाध्यक्ष ने केदारनाथ यात्रियों को किया रवाना

इस मौके पर जन अधिकार पार्टी के लल्ला खरोत, परमजीत सिंह, तहसील अध्यक्ष राजवली सदस्य धरने पर मौजूद रहे। धरना प्रदर्शन की सूचना पर एसडीएम ने धरना स्थल पर आकर पहुंचकर कार्यकर्ताओं को जांच व कार्रवाई का आश्वासन देते हुए भूख हडताल समाप्त कराई। साथ ही सरकारी योजनाओं के तहत एक सप्ताह में कार्रवाई कराए जाने को कहा। जिस पर कार्यकर्ताओं ने भूख हडताल धरना प्रदर्शन समाप्त किया।

उक्त के संबंध में बैंक मैनेजर ने बताया कि उन पर लगाए गए आरोप निराधार है। उनके पास कोई फाइल नहीं आई है और न ही उन्होंने किसी से अभद्र व्यवहार व अपमान किया गया है। यदि प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत कोई भी फाइल आती है। तो पात्रों को योजना के तहत लोन दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें …  हल्की बरसात से लोगों को उमस भरी गर्मी से मिली राहत


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *