मायावती ने खाली किया दूसरा बंगला, सम्पत्ति विभाग ने चाभी लेने से इनकार किया तो...

मायावती ने खाली किया दूसरा बंगला, सम्पत्ति विभाग ने चाभी लेने से इनकार किया तो…



Lucknow. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री एवं बसपा प्रमुख मायावती ने बतौर पूर्व मुख्यमंत्री आवंटित लाल बहादुर शास्त्री मार्ग लखनऊ स्थित बंगला नम्बर-06 को खाली कर दिया है। साथ ही मायावती ने खाली किये गये बंगले की बिजली के बिल की रसीद समेत बंद बंगले की चाभियां स्पीड पोस्ट के माध्यम से राज्य सम्पत्ति अधिकारी को रिसीव करा दी हैं।

मायावती के निजी सचिव मेवालाल गौतम ने बताया कि राज्य सम्पत्ति अधिकारी और लोक निर्माण विभाग के अवर अभियंता-सिविल के कब्जा लेने से मना करने पर बंगले का कब्जा देने के लिए दोनों को स्पीड पोस्ट से चाभियां भेज दी गई हैं। बता दें कि मायावती ने साथ ही अपने बिजली बिल की रसीद भी भेजी है, जिसमें मार्च 2018 को 73 लाख उनहत्तर हजार चार सौ सत्तासी रुपए जमा किये गये हैं।

यह भी पढ़ें … कुशीनगर के इस युवक ने कराया सेक्स चेंज, अब लड़की बनकर है खुश

बता दें कि बसपा प्रमुख मायावती के नाम 13ए माल एवेन्यू आवंटित है। उत्तर प्रदेश राज्य संपत्ति विभाग ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 13ए माल एवेन्यू स्थित सरकारी आवास को खाली करने का नोटिस मायावती को भेजा था। इसके बाद मायावती ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर अपने कार्यकाल के दौरान लिए गए कैबिनेट फैसलों का हवाला दिया था। चिट्ठी में कहा गया था कि 13ए माल एवेन्यू कांशीराम यादगार विश्राम स्थल के नाम आवंटित है और वह उसके कुछ हिस्से में देख-रेख के लिए रहती हैं। लिहाजा, उनको भेजा गया नोटिस सही नहीं है। मायावती के निजी सचिव मेवालाल गौतम ने पीडब्लूडी के वीवीआईपी गेस्ट हाउस में तैनात जेई को खत लिखा है। पत्र में कहा गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री ने कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए मंगलवार को 6 एलबीएस मार्ग स्थित बंगला खाली कर इसकी सूचना राज्य संपत्ति विभाग को दे दी।

मायावती के निजी सचिव ने कहा कि पत्र को राज्य संपत्ति अधिकारी के कार्यालय ने रिसीव करने से इंकार करते हुए कब्जा संबंधित प्रखंड के जेई द्वारा लिए जाने की सूचना दी गई और इसके लिए बुधवार को दोपहर 12.30 बजे संबंधित प्रखंड के जेई से मिलने को कहा गया। उन्होंने कहा कि इसके बाद मैं स्वयं आपके कार्यालय आया और आपसे कब्जा लेने का अनुरोध किया, लेकिन आपने यह कहते हुए इंकार कर दिया कि जब तक राज्य संपत्ति अधिकारी आदेश नहीं देंगे आप पत्र की प्रति और कब्जा नहीं लेंगे। गौतम ने कहा, ‘चूंकि, राज्य संपत्ति विभाग कब्जा लेने से इंकार कर रहा है इसलिए स्पीड पोस्ट से आवास खाली करने संबंधी पत्र की प्रति और बंगले की चाबी का सेट भेज दिया गया है।’ मेवालाल गौतम ने खत में बताया है कि बुधवार को भेजा स्पीड पोस्ट रिसीव हो गया है और पत्र के साथ साक्ष्य के तौर पर 6, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग के बिजली के बिल भी लगाए गए हैं।

यह भी पढ़ें … अब एक मंच पर होंगे आरबीआई पूर्व गवर्नर रघुराम राजन, सीएम योगी और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत!


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *