खीरी: अवैध सम्बन्धों के चलते हुई थी विजय की हत्या, पति पत्नी समेत चार गिरफ्तार

खीरी: अवैध सम्बन्धों के चलते हुई थी विजय की हत्या, पति पत्नी समेत चार गिरफ्तार



लखीमपुर खीरी। शराब कारोबारी विजय जायसवाल हत्याकाण्ड का कोतवाली पुलिस ने खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी को उसकी पत्नी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दो आरोपी अभी तक पुलिस के हत्थे नही चढ़े है। हत्याकाण्ड की असल वजह अवैध सम्बन्ध बताया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक ने हत्याकाण्ड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को पांच हजार रूपये इनाम की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें … वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से 18 की मौत, दर्जनों घायल

पुलिस अधीक्षक रामलाल वर्मा ने बताया कि 12 मई को कोतवाली सदर के शिवपुरी मोहल्ले में पलिया बस स्टेशन के पास होमगार्ड राधेश्याम के मकान में रह रहे किरायेंदार अनुज मिश्रा के कमरे में एक युवक का शव मिला था। युवक के गले में प्लास्टिक की रस्सी लिपटी हुई थी। जबकि तेजाब की एक बोतल भी टूटी पड़ी थी। पुलिस को घटना की सूचना अनुज के रूम पार्टनर ने दी थी। जबकि अनुज अपने कमरे से फरार हो गया था, देर शाम को मृतक युवक की शिनाख्त शराब कारोबारी विजय कुमार जायसवाल पुत्र राम शंकर जायसवाल ग्राम बसड़िया थाना ईसानगर के रूप में हुई। जो कि घटना के दिन सुबह साढ़े पांच बजे घर से सीतापुर जाने की बात कहकर निकला था। युवक की शिनाख्त होने पर पुलिस ने स्वाट टीम की मदद से हत्याकाण्ड की छानबीन शुरू की तो हत्याकाण्ड के पीछे अवैध सम्बन्धों की कहानी उभर कर सामने आयी। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि हत्याकाण्ड का मुख्य आरोपी अनुज मिश्रा अपनी पत्नी तथा साथियों के साथ नकहा कस्बे में मौजूद है तथा फरार होने के लिए किसी वाहन का इन्तजार कर रहे है। सूचना मिलते ही इंस्पेक्टर अशोक पाण्डेय ने अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच कर चारों आरोपियों को दबोच लिया।

यह भी पढ़ें … अब खीरी में कुत्ते के हमले से बच्चा जख्मी, भर्ती

पुलिस की पूछताछ में अनुज मिश्रा ने अपना गुनाह स्वीकार करते हुए बताया कि उसने करीब एक महीना पहले प्रिया वर्मा पुत्री रामखेलावन ग्राम ऊंचगांव थाना ईसानगर के साथ शादी कर ली थी। शादी के बाद प्रिया ने उसे बताया कि शादी से पहले शराब व्यापारी विजय जायसवाल की बाइक से टकराकर उसे अन्दरूनी चोट आयी थी जिसका विजय गुपचुप तरीके खैराबाद के बीएमसी अस्पताल से इलाज करा रहा था। इसी दौरान विजय ने उसके साथ अवैध सम्बन्ध बना लिया थे तथा शादी के बाद भी अवैध सम्बन्ध बनाने के लिए दबाव बना रहा था। यह जानकर उसने विजय की हत्या करने की ठान ली। वारदात को अंजाम देने के लिये उसने अपनी पत्नी की मदद से विजय को दवा दिलाने के बहाने बुलाया और अपने साथियों के साथ मिलकर  किराये की कार से उसका अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद उसे लखीमपुर के शिवपुरी मोहल्ले में किराये के कमरे पर लाकर रस्सी से गला घोंट कर मार डाला।

यह भी पढ़ें … बाइक सवार ने खड़ी ट्रॉली में मारी टक्कर, मौत

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस वारदात को अंजाम देने के आरोप में अनुज मिश्रा पुत्र मुनेश्वर मिश्रा ग्राम वाली थाना धौरहरा, प्रिया वर्मा पुत्री रामखेलावन वर्मा ग्राम ऊंचगांव थाना ईसानगर शिवाकान्त मिश्रा पुत्र रामसेवक मिश्रा ग्राम सकटापुरवा थाना फरधान तथा राजगुप्ता पुत्र बसन्तराम ग्राम सिसवारी थाना तिकुनियां को गिरफ्तार कर जेल भेजा रहा है। हत्यारोपियां के कब्जे से मृतक विजय का पर्स, वोटर कार्ड, पेनकार्ड, आधार कार्ड, व पर्स में रखे 2790 रूपये व एक कलाई घड़ी बरामद हुई है। वही अनुज मिश्रा की निशान देही पर मृतक का मोबाइल भी बराम कर लिया है। जबकि राकेश यादव पुत्र शत्रोहन यादव ग्राम दण्डपुरवा थाना लहरपुर तथा शिभम पुत्र ओमप्रकाश त्रिवेदी ग्राम कुवरापुर थाना धौरहरा अभी फरार है जिनकी तलाश जारी है। वही वारदात में प्रयोग की गयी गाड़ी की तलाश की जा रही है। पुलिस अधीक्षक रामलाल वर्मा ने हत्याकाण्ड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को पांच हजार रूपये की पुरस्कार राशि देने की घोषणा की।


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *