जागरूकता होगी तो भ्रष्टाचार रुकेगा : मुख्यमंत्री

जागरूकता होगी तो भ्रष्टाचार रुकेगा : मुख्यमंत्री



जागरूकता होगी तो भ्रष्टाचार रुकेगा : मुख्यमंत्री
जागरूकता होगी तो भ्रष्टाचार रुकेगा : मुख्यमंत्री

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार समाज के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहंचाने का कार्य कर रही है। इसमें जिला प्रशासन, विभिन्न वित्तीय संगठन एवं बैंक संचालित योजनाओं से गरीबों को लाभान्वित करने में अपना सहयोग दें। उन्होंने कहा कि पहले लोगों को जागरूकता के अभाव में योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता था और भ्रष्टाचार होता था, जब जागरूकता होगी तो भ्रष्टाचार रुकेगा। अब सब्सिडी का पैसा सीधे खाते में डीबीटी से पहुंचाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें …  आईपीएल-11 : जीत की राह पर लौटना चाहेंगी बेंगलोर-कोलकाता

मुख्यमंत्री ने यह विचार रविवार को जंगल रामगढ़ गांव में भारतीय स्टेट बैंक द्वारा आयोजित ग्राम स्वराज अभियान के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। इस अवसर पर उन्होंने प्रधानमंत्री जन-धन योजना की पास बुक एवं प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के ऋण स्वीकृति पत्र भी वितरित किए। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री के आह्वान पर पूरे देश में सामाजिक समरसता और न्याय के अग्रदूत डॉ0 बीआर आंबेडकर की जयन्ती के अवसर पर 14 अप्रैल से 5 मई, 2018 तक ग्राम स्वराज अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत अनुसूचित जाति/जनजाति के गांवों को अभियान चलाकर केन्द्र व प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं से संतृप्त किया जाएगा, ताकि गरीबों के जीवन स्तर में परिवर्तन आ सके।

योगी ने केन्द्र सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि बैंक अधिक से अधिक जन-धन खाते खोलें तथा स्वरोजगार के लिए लोगों को ऋण उपलब्ध कराएं। ग्राम स्वराज अभियान के तहत चयनित लगभग 4000 गांवों को अभियान चलाकर उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य योजनाओं से संतृप्त किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें … मुख्यमंत्री योगी गोरखपुर के तीन दिवसीय दौरे पर

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा 30 अप्रैल को आयुष्मान भारत योजना का शुभारम्भ किया जा रहा है, जिसके तहत 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपए का बीमा किया जाएगा। इस योजना के तहत कोई भी बीमार अपना इलाज किसी भी अस्पताल में करा सकेगा। उन्होंने जिला प्रशासन को गांवों में जाकर सभी पात्रों के राशन कार्ड का सत्यापन करने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन पात्र व्यक्तियों के पास राशन कार्ड नहीं हैं, उनके राशन कार्ड बनवाए जाएं।

कार्यक्रम के दौरान योगी ने सुमित्रा को 50 हजार रुपए का ऋण प्रमाण-पत्र तथा शिखर एजेन्सी और मां वैष्णवी एजेन्सी को मुद्रा लोन के तहत 5 लाख रुपए एवं 4 लाख रुपए, विजय, अजय, इन्दु, लालमति को जन-धन खाते की पासबुक तथा सीमा एवं संगीता देवी को मुख्यमंत्री सर्वहित बीमा योजना के तहत 5 लाख रुपए का चेक प्रदान किया। भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबन्धक ने बैंक के कार्यों एवं उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी तथा एसबीआई के अधिकारीगण उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें … प्रेम-प्रसंग के चलते गोमती में कूदी युवती, बचाया


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *