राष्ट्रमंडल खेल : चौथे दिन भारत को 6 पदक, टेटे में महिला टीम ने रचा इतिहास

राष्ट्रमंडल खेल : चौथे दिन भारत को 6 पदक, टेटे में महिला टीम ने रचा इतिहास



राष्ट्रमंडल खेल : चौथे दिन भारत को 6 पदक, टेटे में महिला टीम ने रचा इतिहास
राष्ट्रमंडल खेल : चौथे दिन भारत को 6 पदक, टेटे में महिला टीम ने रचा इतिहास

गोल्ड कोस्ट (आस्ट्रेलिया)। यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों का चौथा दिन, रविवार भारत के लिए पदकों की बहार लेकर आया। भारत ने कुल छह पदक जीते, जिसमें तीन स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य शामिल हैं। इस प्रदर्शन के बाद भारत पदक तालिका में चौथे स्थान पर है। उसने अभी तक कुल 12 पदक अपने नाम कर लिए हैं। इनमें से सात स्वर्ण, दो रजत और तीन कांस्य पदक शामिल हैं।

भारत के लिए सबसे अच्छी खबर रविवार को टेबल टेनिस में आई। देश की महिला टीम ने इन खेलों में पहली बार स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। स्टार खिलाड़ी मनिका बत्रा की दो जीत की बदौलत भारतीय महिला टीम ने फाइनल में सिंगापुर को 3-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। सिंगापुर इस स्पर्धा का गत चैंपियन था और 2002 के बाद से उसने हर बार खिताब अपने नाम किया था। भारत का इससे पहले इस स्पर्धा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2010 के दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों में था जहां वह उपविजेता रहा था।

यह भी पढ़़े़ें …. चैती मेला देखने आई किशोरी से छेड़छाड़, दो युवक गिरफ्तार

प्रतियोगिता के फाइनल का पहला मैच एकल वर्ग का था जहां मनिका बत्रा ने तियानवेई फेंग को 11-8, 8-11, 7-11, 11-9, 11-7 से मात देकर भारत को 1-0 की बढ़त दिलाई। दूसरे एकल मुकाबले में भारत की मधुरिका पाटकर को मेंगयू यू ने 13-11, 11-2, 11-6 से मात देकर सिंगापुर को मुकाबले में 1-1 से बराबरी पर ला दिया। इसके बाद तीसरा मैच युगल वर्ग का था जिसमें मौमा दास और मधुरिका की जोड़ी ने यिहान झू और मेंगयू की जोड़ी को 11-7, 11-6, 8-11, 11-7 से मात दे एक बार फिर भारत को 2-1 की बढ़त दिला दी। अगला मुकाबला भी एकल वर्ग का था जिसमें मनिका ने यिहान झू को 11-7, 11-4, 11-7 से मात दे स्वर्ण भारत की झोली में डाल दिया।

मनु भाकेर ने  भारत को दूसरा स्वर्ण दिलाया

इससे पहले दिन की शुरुआत में ही अच्छी खबर मिली। पूनम यादव ने महिलाओं की भारोत्तोलान की 69 किलोग्राम स्पर्धा में भारत को सोने का तमगा दिलाया। पूनम ने कुल 222 किलो का भार उठाया। उन्होंने स्नैच में 100 किलो का भार उठाकर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया, वहीं क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 122 किलोग्राम का भार उठाकर बेहतरीन प्रदर्शन किया। कुछ देर बाद यह खुशी और बढ़ गई जब हरियाणा की 16 साल की निशानेबाज मनु भाकेर ने अपने पहले राष्ट्रमंडल खेलों में 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में भारत को दिन का दूसरा स्वर्ण दिलाया। इसी स्पर्धा में भारत की दिग्गज निशानेबाज हीना सिद्धू ने रजत पदक पर कब्जा जमाया। मनु ने गेम रिकार्ड के साथ स्वर्ण जीता। मनु ने इस स्पर्धा के फाइनल में कुल 240.9 अंक हासिल किए, वहीं हीना ने 234 अंक हासिल कर रजत पदक जीता।

यह भी पढ़़े़ें …. सलमान अकेले नहीं, ये हस्तियां भी कर चुकी हैं कानून का सामना

रवि ने कांसे पर कब्जा जमाया

निशानेबाजी में कुछ देर बाद भारत के हिस्से एक और पदक आया। रवि कुमार ने 10 मीटर एयर राइफल में कांसे पर कब्जा जमाया। रवि ने फाइनल में कुल 224.1 अंक हासिल किए और तीसरे स्थान पर रहकर कांस्य पदक अपने नाम किया। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक आस्ट्रेलिया की झोली में गया। आस्ट्रेलिया के डेन सेम्पसन ने कुल 245 अंक हासिल कर पहला स्थान प्राप्त किया और सोना जीता। बांग्लादेश के बाकी अबदुल्ला हेल को 224.7 अंकों के साथ दूसरा स्थान मिला। उन्होंने रजत पर कब्जा जमाया। हालांकि, महिलाओं की स्कीट स्पर्धा में सानिया शेख पदक के काफी करीब आकर चूक गईं।

कांस्य पदक से करना पड़ा संतोष

दीपक ठाकुर ने पुरुषों की 75 किलोग्राम भारवर्ग भारोत्तोलान स्पर्धा में एक और कांसा दिया। स्पर्धा में विकास ने कुल 351 किलोग्राम का भार उठाया। उन्होंने स्नैच में 159 का भार उठाकर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। क्लीन एंड जर्क में वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए और इस कारण उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। भारत ने मुक्केबाजी और हॉकी में भी अच्छा प्रदर्शन किया। मुक्केबाजी में देश की दिग्गज महिला मुक्केबाज मैरी कॉम ने सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है और उनका पदक पक्का हो गया है। जबकि, विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले विकास कृष्ण ने भी देश की पदक की उम्मीदों को जिंदा रखा है। दोनों ने चौथे दिन अपने-अपने वर्ग में मुकाबले जीतते हुए अगले दौर में जगह बना ली है।

यह भी पढ़़े़ें …. भाजपा नेताओं से भिड़ने वाली आईपीएस चारू निगम का तबादला

मैरी कॉम ने सेमीफाइनल में जगह बना ली

अभी तक राष्ट्रमंडल खेलों में पदक से अछूती रहीं मैरी कॉम ने महिलाओं की 48 किलोग्राम भारवर्ग में रविवार को स्कॉटलैंड की मेगन गोर्डन को आसानी से 5-0 से मात देते हुए सेमीफाइनल में जगह बना ली। इस जीत के साथ उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में अपना पहला पदक पक्का कर लिया है। मैरी कॉम अगर सेमीफाइनल में हार भी जाती हैं तो वह कांस्य पदक जीतने में सफल रहेंगी। पांच बार की विश्व विजेता के लिए यह मैच एकतरफा रहा। मैरी कॉम शुरू से ही अपनी प्रतिद्वंद्वी पर हावी रहीं। विकास को अगले दौर में पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी। विकास ने आस्ट्रेलिया के कैम्पबेल सोमेरविले को 5-0 से हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। विकास और सोमेरविले के बीच हुआ यह मुकाबला रोमांचक था। दोनों मुक्केबाजों ने एक-दूसरे को अच्छी टक्कर दी। हालांकि, भारतीय मुक्केबाज ने अपना दबदबा बनाए रखा।

यह भी पढ़़े़ें ….  माध्यमिक विद्यालयों में महिला शिक्षकों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं : उप मुख्यमंत्री

 हॉकी भी खुशियां लेकर आई

भारत को हालांकि महिलाओं के 69 किलोग्राम भारवर्ग में निराशा हाथ लगी जहां लवलिना बोरोगेहेन क्वार्टर फाइनल में हार कर बाहर हो गईं। लवलिना को इंग्लैंड की सैंडी रयान ने 3-2 से मात दी। हॉकी भी खुशियां लेकर आई। पुरुष और महिला दोनों टीमों ने जीत हासिल की। महिला टीम ने अपने से मजबूत मानी जा रही इंग्लैंड की टीम को 2-1 से मात दी। लेकिन, पुरुष टीम को अपना मुकाबला जीतने के लिए पसीना बहाना पड़ा। उसने अपने से कमजोर मानी जा रही वेल्स को कड़े मुकाबले में 4-3 से हराया। पुरुष टीम का मैच लगभग ड्रॉ लग रहा था लेकिन एस.वी सुनिल ने 58वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर के रिबाउंड पर गोल करते हुए टीम को जीत दिलाई। सुनिल के अलावा इस मैच में भारत के लिए दिलप्रीत ने 16वें, मनदीप ने 27वें और रूपिंदर पाल सिंह ने 57वें मिनट में गोल किए। वेल्स के लिए गारेथ फरलोंग ने हैट्रिक लगाई और 17वें, 44वें और 58वें मिनट में गोल किए।


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *