फूलपुर और गोरखपुर में सपा उम्मीदवारों को मिला बसपा का समर्थन

फूलपुर और गोरखपुर में सपा उम्मीदवारों को मिला बसपा का समर्थन



लखनऊ। आगामी 11 मार्च को उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों पर होने वाले उप चुनाव में बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) ने अपनी प्रतिद्वंदी समाजवादी पार्टी (सपा) के उम्मीदवारों को समर्थन देने की घोषणा कर दी है। हालांकि पार्टी सपा के साथ मंच साझा नहीं करेगी। दो शर्तों के तहत सपा प्रत्याशियों को दिए गए समर्थन का ऐलान रविवार को गोरखपुर और इलाहाबाद में पार्टी नेताओं की हुई बैठक में बसपा कोआर्डिनेटरों ने किया।

इलाहाबाद में जोनल कोआर्डिनेटर अशोक कुमार गौतम की अध्यक्षता में बसपा जिला कार्यालय में पार्टी नेताओं की बैठक हुई। बैठक में फूलपुर लोकसभा उपचुनाव को लेकर पार्टी नेताओं ने मंथन कर सपा उम्मीदवार को समर्थन देने का विचार किया, जिसके बाद बसपा कोऑर्डिनेटर अशोक कुमार गौतम ने सपा प्रत्याशी नागेंद्र सिंह पटेल को समर्थन देने की घोषणा कर दी। उन्होंने कहा कि भाजपा को हराने के लिए जीत रहे प्रत्याशी को बसपा का समर्थन रहेगा, इसी के तहत इलाहाबाद में सपा प्रत्याशी नागेंद्र सिंह पटेल को इधर समर्थन किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :- लेडी इंस्पेक्टर की हत्या कर मशीन से किए टुकड़े

अशोक ने कहा कि हमारे कार्यकर्ता समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के पक्ष में माहौल भले ही बनाएंगे लेकिन हम समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के साथ मंच साझा नहीं करेंगे। बस कार्यकर्ताओं को चुनाव में लगना है। उन्होंने कहा कि बसपा का लक्ष्य भाजपा का सफाया करना है। इसी कारण उनकी पार्टी ने यहां पर सपा प्रत्याशी को अपना समर्थन देने का ऐलान किया है।

उधर गोरखपुर में मंगलम लॉन में आयोजित बसपा कार्यकर्ता सम्मेलन में बसपा के मुख्य ज़ोन कोऑर्डिनेटर घनश्याम चन्द्र खरवार ने सपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद को समर्थन देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि हम मिलकर देश को खोखला करने वालों को सबक सिखाएंगे। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रवीण कुमार निषाद को जीत दिलाने के लिए अब जी जान से जुट जाने की अपील की। खरवार ने कहा कि दो शर्तों पर बसपा मुखिया मायावती ने समाजवादी पार्टी को समर्थन देने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें :- ऑटो चालक की बेटी ने जज की परीक्षा में किया टॉप, दुनिया कर रही सलाम

पहली देश को खोखला करने वालों को उखाड़ फेंकेंगे और दूसरी शर्त अति पिछड़े वर्ग के प्रत्याशी को मैदान में उतारने की थी। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर से यहां की स्थितियों को राष्ट्रीय अध्यक्ष तक पहुंचाया गया था। पिछड़े व दलितों के हित में मायावती ने प्रवीण को समर्थन का आदेश दिया है। खरवार ने कहा कि सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता तन, मन, धन से प्रवीण निषाद को जिताने में जुट जाएं। बैठक में सपा के उदय वीर सिंह और निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ संजय निषाद शामिल हुए।

यह भी पढ़ें :- मेरी गिरफ्तारी राजनीतिक प्रतिशोध : कार्ति चिदंबरम


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *