दारोगा जी खुद ही बन गए शोहदे, फिर यात्रियों ने किया वो हाल...

दारोगा जी खुद ही बन गए शोहदे, फिर यात्रियों ने किया वो हाल…



दारोगा जी खुद ही बन गए शोहदे, फिर यात्रियों ने किया वो हाल...
दारोगा जी खुद ही बन गए शोहदे, फिर यात्रियों ने किया वो हाल…

जालौन। प्रदेश पुलिस की छवि पर एक बार फिर काला धब्बा लगा है। जहां मुख्यमंत्री योगी ने पुलिस को एंटी रोमियों स्क्वॉयड बना युवतियों और महिलाओं की शोहदों से रक्षा करने के निर्देश दिए है। वहीं, जालौन में एक उम्र दराज दरोगा खुद की शोहदे बन गए और बस में अकेले सफर रही नाबालिग दलित कशोरी से छेड़छाड़ करने लगे। किशोरी के शोर मचाने पर यात्रियों ने बस से नीचे खींच कर दरोगा को जूतों से पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया।

यह भी पढ़ें :- मेघालय और नगालैंड में 59-59 विधानसभा सीटों पर मतदान शुरू

जानकारी के मुताबिक, उरई निवासी दरोगा एसके त्रिपाठी ललितपुर कोतवाली में तैनात है। वह रोज ड्यूटी समाप्त करके ललितपुर से उरई स्थित अपने घर ता है। बताते हैं कि रविवार रात भी नशे में धुत दरोगा बस से घर लौट रहा था। उस बस से पीडि़त छात्रा में बैठी थी।  आरोप है कि नाबालिग दलित किशोरी के पास बैठे दरोगा रास्ते में उससे छेडख़ानी करने लगा। पीडि़त छात्रा ने बताया कि वर्दी पहने दरोगा के बगल में वह सुरक्षित समझ कर बैठ गई थी। लेकिन रास्ते में वह उससे छेडख़ानी करने लगा। विरोध करने पर धमकाया।

यह भी पढ़ें :- सभी एमओयू धरातल पर उतरने चाहिए: योगी

बताते है कि इस बीच किशोरी ने फोन कर अपने परिवार वालों को मामले की सूचना दे दी। जिसके बाद जैसे ही बस जालौन के देव नगर चौराहे पर बस रुकी, किशोरी ने शोर मचा किया। उसका शोर सुन कर परिवार के लोगों के साथ-साथ यात्रियों ने दरोगा को बस से खींचा और जूते से पीट दिया। इस बीच खबर पा कर जालौन चौकी के प्रभारी ने मौके पर पहंचे और दरोगा को हिरासत में ले लिया। पीडि़ता ने इस संबंध में तहरीर दी है। पुलिस कार्रवाई की बात कह रही है।

यह भी पढ़ें :- सडक़ हादसों में एक महिला सहित पांच घायल, तीन रेफर


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *